Home उत्तर प्रदेश कलयुग का श्रवण

कलयुग का श्रवण

0

Loading

शारदा न्यूज, संवाददाता |

दिल्ली-हरिद्वार नेशनल हाईवे 58 पर कांवरियों की धूम शुरू हो गई है जिसके चलते कावड़ियों का हरिद्वार से पवित्र गंगाजल लेकर अपने गंतव्य स्थान की ओर बढ़ना शुरू हो गया है। हालांकि अभी बहुत ही कम संख्या में कावड़ आई है क्योंकि 4 जुलाई से श्रावण महा शुरू हो रहा है और श्रावण महा भगवान भोले शंकर जी का सबसे पसंदीदा महीना है। जिसमें शिवभक्त कावड़िए हरिद्वार से पवित्र गंगाजल लेकर अपने गंतव्य की ओर जाते हैं।

दरअसल एक अनोखे कांवरियों की टोली देखने को मिली है। जिसमें एक कावड़िया श्रवण के भेष में है जो अपने दादा और दादी को कावड़ में बैठाकर हरिद्वार से गाजियाबाद की ओर बढ़ रहा है गुरुवार को यह कावड़िया राहुल सैनी अपने दादा और दादी को कावड़ में बैठा कर अपने गांव फरकपुर गाजियाबाद कलयुग का यह श्रवण प्रतिदिन 10 किलोमीटर अपने 86 वर्षीय दादा धन्नू और अपनी 82 वर्षीय दादी बलवीरी को लेकर 20 जून को गंगाजल और जो 14 जुलाई यानी महाशिवरात्रि के 1 दिन पहले अपने गांव पहुंचने का लक्ष्य रखा है।

कलयुग के श्रवण राहुल सैनी का कहना है कि वह कई साल से कावड़ लेकर आ रहा है 1 दिन उसके दादा और दादी ने कहा कि हमें भी हरिद्वार घुमा दे बस राहुल ने उसी दिन ठान ली थी कि वह अपने दादा और दादी को लेकर कावड़ के साथ हरिद्वार जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here