Home mausam हीटवेव के असर से झुलस रहा शरीर, आंखों से निकल रहा पानी

हीटवेव के असर से झुलस रहा शरीर, आंखों से निकल रहा पानी

0
  • मई के बाद अब जून में भी झुलसा रही गर्मी, दिन भर चली लू,
  • 43.8 डिग्री दर्ज किया पारा, गर्मी से जनजीवन प्रभावित।

शारदा रिपोर्टर

मेरठ। आधा जून बीतने को है और गर्मी के तेवर अभी नरम नहीं पड़े है। हीटवेव के असर से गर्मी झुलसा रही है। शरीर का तापक्रम भी बढ़ता जा रहा है। आंखों में पानी निकल रहा है और आंखों को भी गर्मी झुलसा रही है। बुधवार की रात सीजन में सबसे गर्म रात दर्ज की गई। मौसम वैज्ञानिकों की माने तो गर्मी अभी 48 घंटें तक राहत के आसार नहीं है।

वेस्ट यूपी में गर्मी का असर कम नहीं है बढ़ती गर्मी और सूरज की तपिश के बीच शहरवासी हलकान है। हीटवेव के असर के चलते आंखों में जलन और पानी निकल रहा है। पिछले एक माह से पड़ रही गर्मी अभी राहत देते नहीं दिख रही है।

दोपहर के समय में हीटवेव और सूरज की तपिश के बीच इसका असर ज्यादा दिख रहा था। सुबह से ही आसमान से बरस रही आग के बीच मौसम गर्म बना हुआ है। दिन के तापमान के साथ रात के तापमान में भी तेजी से बढ़ोतरी हो रही है और बुधवार की रात सीजन में अब तक सबसे गर्म रात दर्ज की गई।

बुधवार को तापमान बढ़कर 29 डिग्री पर पहुंच गया। मौसम कार्यालय पर दिन का अधिकतम तापमान 43.8 डिग्री व रात का न्यूनतम तापमान 29.0 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड़ किया गया। पिछले सालों की तुलना में जून माह में गर्मी रिकार्ड़ तोड़ रही है। आगे भी तापमान के बढने के आसार है।

फिर से बढ़ गया प्रदूषण का स्तर: बढ़ती गर्मी के बीच बृहस्पतिवार को गर्मी के साथ प्रदूषण का स्तर भी बढ़ गया। मेरठ का एक्यूआई 181, बागपत 196, गाजियाबाद 202, मुजफ्फरनगर 190, जयभीमनगर 263, गंगानगर 134, बेगमपुल 215 दिल्ली रोड 195 दर्ज किया गया। प्रदूषण में भी बढोतरी हो रही है। मेरठ में सामान्य प्रदूषण और शहर के विभिन्न हिस्सों का प्रदूषण बढ़ रहा है।

जून में भी गर्मी पकड़ रही रफ्तार

जून माह के 13 दिन में 10 दिन तापमान 40 डिग्री से ऊपर दर्ज किया गया। लगातार बढ़ता तापमान गर्मी को बढ़ा रहा है। बारिश न होने से कोई राहत नहीं दिख रही और मौसम में नमी खत्म होने से रात का तापमान भी रिकार्ड़ तोड़ रहा है। रात का तापमान सामान्य से पांच से छह डिग्री ऊपर पहुंच गया है। 13 दिन से गर्मी के कारण जनजीवन भी प्रभावित हो रहा है।

गर्मी जून माह में भी भीषण पड़ रही है। मानूसन की जो रफ्तार थी, वह धीमी हुई है। जून के अंत और जुलाई के प्रथम सप्ताह में मानसून के पहुंचने के आसार है। मानसूनी बारिश से ही राहत मिल सकती है। गर्मी के तेवर अभी ऐसे ही बने रहेंगे। तापमान 44 डिग्री के ऊपर भी पहुंच सकता है। – डॉ. यूपी शाही, मौसम वैज्ञानिक कृषि विवि

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here