Home Meerut सपा मुखिया अखिलेश का भाजपा पर वार, बोले- अब महंगाई, बेरोजगारी पर...

सपा मुखिया अखिलेश का भाजपा पर वार, बोले- अब महंगाई, बेरोजगारी पर बात नहीं होती

0

Loading

सपा मुखिया अखिलेश का भाजपा पर वार, बोले- अब महंगाई, बेरोजगारी पर बात नहीं होती


शारदा न्यूज़, संवाददाता।


 

  • अखिलेश का भाजपा पर वार

  • कहा……..अब महंगाई, बेरोजगारी पर बात नहीं होती,

मेरठ। मीडिया से बात करते हुए अखिलेश यादव ने कहा इस सड़क पर मुझे नई ट्रैफिक व्यवस्था दिखी है। एक झुंड बनाकर सांड़ बैठे थे। जो बता रहे थे कि स्पीड ज्यादा तेज मत करो, अगर की तो जान चली जाएगी। अखिलेश ने बैंक कर्मचारी की सांड़ से टकराकर गई जान वाले हादसे को याद करते हुए कहा मुझे हादसे का वो दिन आज भी याद है। जब यहां लोगों ने धरना प्रदर्शन किया था। जिस मुद्दे को प्रधानमंत्री ने उठाया वो आज तक खत्म नहीं हो पाया।

 

 

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने आगे कहा कि अवार्ड आर्किटेक्ट को मिलता है। कहा कि आगरा का मुगल म्यूजियम इसलिए था क्योंकि वो ताजमहल से जुड़ा था। लेकिन उस म्यूजियम के अंदर जो संदेश था वो गंगा जमुनी तहजीब, भाईचारे, मिलीजुली संस्कृति का था। फिर कहते हैं कि शिवाजी से उनका बहुत पुराना रिश्ता है, उनकी माताजी से हमारा बहुत पुराना रिश्ता है। कहा कि बीजेपी के लोग वो हैं जिन्हें काम नहीं करना है। ये भाजपा की रणनीति थी कि ऐसा जहर घोल दें कि लोग कुछ और सोच ही नहीं सकें। कहा वो म्यूजियम टूरिज्म को बढ़ाने के लिए बन रहा था। ताकि पर्यटक म्यूजियम के बहाने भारत की संस्कृति को जानें। जिस आर्किटेक्ट ने वो म्यूजियम डिजायन किया था उसे यूरोप का 2023 का सबसे बड़ा अवार्ड मिला। कहा कि मुख्यमंत्री गूगल से कुछ सर्च नहीं कर सकते।

 

आपको बता दें मेरठ में किशोरी को न्यूड कर वीडियो वायरल मामले पर अखिलेश ने कहा मुझे दुख है कि इस बात का जो वीडियो आया है उसकी जांच होना चाहिए। जो लोग इसमें शामिल हैं उन पर कार्रवाई होनी चाहिए। लेकिन सावधान रहना कहीं कहीं ऐसा तो नहीं कि मणिपुर के मुद्दे को दबोने के लिए ये किया जा रहा हो।

 

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने यह भी कहा कि 2024 में इंडिया गठबंधन भाजपा का सफाया करने का काम करेगा। इंडिया में इंक्लूजिवनेस और डवलपमेंट की बात है। ये वही इंक्लूजिवनेस है जो अंतराष्ट्रीय गोल होते हैं। जिस पर मुख्यमंत्री जी ने विधानसभा में जमकर बहस की थी। इंडिया का आशय सबको साथ लेकर चलना है, भाईचारा, मिलीजुली संस्कृति से है। तो भाजपा को किस बात की घबराहट है। कहा कि मुख्यमंत्री कुछ नहीं जानते, अगर जानते तो जो म्यूजियम है। जो गठबंधन भाजपा का सामना कर सकता है ये वो गठबंधन है। 2024 में एक ही मुद्दा रहेगा भाजपा हटाओ इंडिया जिताओ। कहा कि हम यूसीसी के खिलाफ हैं, पीडीए। पीडीए क्या है पिछड़े, दलित, अल्पसंख्यकों को कौन पूछ रहा है। कहा भाजपा पीडीए, इंडिया का मुकाबला नहीं कर सकती। अखिलेश ने गन्ने के भुगतान, यमुना में पानी उफान, हिंडन में उफान का मुद्दा भी उछाला। कहा जो सरकार भरे पानी को नहीं निकाल पा रही वो आगे क्या बढ़ाएगी।

 

मणिपुर घटना आरएसएस की विभाजनकारी नीति का परिणाम अगर भाजपा के लोग यह कहते हैं कि नाम में क्या रखा है तो मेक इन इंडिया, स्टार्टअप इंडिया का झंडा लेकर चलना क्या है। भाजपा को घबराहट इस बात की है कि इस बार जनता तय करेगी। एक तरफ वो लोग हैं जो भारत के संविधान और भारत को बचाना चाहते हैं। एक तरफ वो लोग हैं जो संविधान को खत्म करना चाहते हैं। जो डरे हुए हैं। ये लोग आज तक नफरत की राजनीति करते आए हैं। मणिपुर जो जल रहा है वो आरएसएस की विभाजनकारी नीति और भाजपा की वोट की राजनीति के कारण जल रहा है। क्या हम कल्पना कर सकते हैं। जिस भारत को भारत मां, गंगा मां बोलते हैं। इंडिया पर बोलने से पहले भाजपा को मणिपुर के बारे में सोचना चाहिए। कहा जिस सीएम ने सबसे ज्यादा नाम बदले हों वो कहते हैं नाम में क्या रखा है।

 

यूपी की पुलिस निरंकुश हो चुकी

दरोगा के ठोक देने के वीडियो पर अखिलेश ने कहा कि इतनी निरंकुश पुलिस कभी नहीं हुई होगी जो आज देखने को मिल रहा है। इतना करप्शन पुलिस, विभागों में कभी नहीं हुआ होगा जो आज हो रहा है। भाजपा सरकार ने जानकारी कर ये पता लगाया कि कौन सा विभाग सबसे करप्ट है तो पुलिस विभाग सबसे करप्ट निकला। ये बातचीत, भाषा, बिहेव जो है पुलिस को जो नहीं करना चाहिए वही कर रही है। कहा अभी ये लोग सीएचसी बेच रहे हैं। फिर अस्पताल बेच देंगे। सरकार ने एक भी जिला अस्पताल नहीं बनाया जहां गरीब का इलाज हो सके। जो डेयरियां मुनाफे में जाती हैं उन्हें बेच रहे हैं।

 

जिन कांवड़ियों पर सीएम हेलिकाप्टर से फूल बरसाते हैं उनकी जान चली गई। तो क्या उनको 1 करोड़ नहीं मिलना चाहिए,कांवड़ियों की जान सरकार की लापरवाही और बिजली विभाग की लापरवाही से गई है। इनके परिवार को एक करोड़ रुपया देना चाहिए। इसलिए देना चाहिए क्योंकि उन कांवड़ियों पर फूल बरसाते हो आज उनके परिवार के सदस्य नहीं हैं तो उनको एक करोड़ रुपए और सरकारी नौकरी मिलना चाहिए।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here