Home Meerut मेरठ के युवा ने किलिमंजारो पर फहराया तिरंगा, बढ़ाया देश का मान 

मेरठ के युवा ने किलिमंजारो पर फहराया तिरंगा, बढ़ाया देश का मान 

0

Loading

मेरठ के युवा ने किलिमंजारो पर फहराया तिरंगा, बढ़ाया देश का मान 

  • 15 अगस्त को अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी पर गूंजा भारत माता की जय,

 


शारदा न्यूज़, संवाददाता।


मेरठ के युवा अंकित कुश ने 15 अगस्त के दिन अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर तिरंगा झंडा फहराकर देश का मान बढ़ाया है। भूनी गांव के रहने वाले अंकित स्वतंत्रता दिवस के दिन किलिमंजारो पर तिरंगा फहराकर आए हैं। इस ट्रैक को बेहद सफलता से पूरा किया है।

 

अंकित बताते हैं कि पिछले 2 सालों से इस ट्रैक की तैयारी कर रहा था। इस साल इसे पूरा कर पाया हूं। इस ट्रैक को पूरा करने के लिए मैंने 6 महीने पहले से अपनी हेल्थ, फिटनेस और एक्सरसाइज पर काम किया। ताकि किलिमंजारो पर जाकर वहां के वातावरण के अनुसार शरीर को ढाल सकें।

अंकित ने बताया मैंने 12 अगस्त को मरांगू गेट से इस ट्रैक को शुरू किया था। मरांगू गेट से होते हुए वो मंडारा हंट पहुंचा। मंडारा में नाइट स्टे के बाद 13 अगस्त को ट्रैक किया। होरोंबो हंट पहुंचा। फिर 14 अगस्त को होरोम्बो हंट से निकलकर कीबो हट तक का सफर चढ़कर पूरा किया। 14 अगस्त की रात में लगभग 12:00 बजे से किलिमंजारो के लिए चढ़ाई शुरू कर दी,क्योंकि मुझे 15 अगस्त की सुबह सूरज की पहली किरण के साथ अपना तिरंगा माउंट किलिमंजारो पर लहराना था, तो 12:00 बजे से लगभग ट्रैक स्टार्ट करते हुए मैं सुबह 6:00 बजे के करीब किलिमंजारो पर्वत की चोटी पर पहुंचकर अपना तिरंगा लहरा दिया। यह फास्टेस्ट ट्रैक था। कहते हैं बहुत कम लोग है जो लगभग 6 घंटे में चोटी पर पहुंच सके हैं। मैं वहां पर खुद कम समय में पहुंचा और सबसे पहले पहुंचा हूं।उसके बाद मैं वापस कीबों हट पहुंच चुका था।

 

बताया गया कि 18 अगस्त को दिल्ली इसके बाद अंकित 18 अगस्त की शाम को ही मेरठ में अपने गांव भूनी में लौटेंगे। पिछले 2 साल से अंकित माउंटेनियरिंग की ट्रेनिंग ले रहे हैं। 2021 में ट्रेनिंग कम ट्रैक कर चुके हैं। 2022 में हिमाचल में ट्रेनिंग ली और ट्रेनिंग के दौरान फ्रेंडशिप पीक ट्रैक कर चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here