Home Meerut सकुशल और शांतिपूर्वक संपन्न होनी चाहिए कांवड़ यात्रा: एडीजी

सकुशल और शांतिपूर्वक संपन्न होनी चाहिए कांवड़ यात्रा: एडीजी

0
  • Kawad Yatra 2024: मुख्यमंत्री की प्राथमिकता में शामिल कांवड़ यात्रा को लेकर आला अधिकारियों ने की बैठक।

शारदा रिपोर्टर

मेरठ। आगामी कावड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराने को लेकर गुरुवार को पुलिस लाइन सभागार में एक मंथन बैठक आयोजित की गई। जिसमें चार राज्यों शामली, दिल्ली, उत्तराखंड और हरियाणा के पुलिस अधिकारी मौजूद रहे।

इस बैठक में मुख्य रूप से पहुंचे एडीजी डीके ठाकुर, आईजी नचिकेता झा और एसएसपी विपिन ताडा ने अन्य राज्यों से आए पुलिस अधिकारियों से कावड़ यात्रा को सकुशल संपन्न कराने को लेकर बातचीत की। एडीजी डीके ठाकुर ने कहा कि कावड़ यात्रा सरकार की प्राथमिकताओं में से एक है, जिसे सकुशल करना बेहद जरूरी। उन्होंने कहा कि 22 जुलाई से शुरू होने वाली कांवड़ यात्रा को लेकर रूट डायवर्ट, सुरक्षा, साफ-सफाई, पानी आदि व्यवस्थाओं को लेकर फाइनल टच दिया जाए। क्योंकि, आगामी 22 जुलाई से कावड़ यात्रा शुरू होने वाली है। बता दें कि, इसी यात्रा को लेकर एक जुलाई को देहरादून में यूपी, उत्तराखंड, हरियाणा, दिल्ली, हिमाचल सहित अन्य राज्यों के अधिकारियों की बैठक हुई थी।

इस बैठक में रेलवे, सरकारी ट्रांसपोर्ट, आईबी, एसटीएफ सहित कई अधिकारियों ने महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा की। जिसके बाद दूसरी बैठक मेरठ स्थित पुलिस लाइन सभागार में हुई। इस बैठक का नेतृत्व यूपी के चीफ सेक्रेटरी डीजीपी डीके ठाकुर ने किया।जिसमें कई राज्यों के एसएसपी, एसपी ट्रैफिक, इंटेलिजेंस विभाग, नगर निगमों, छावनी परिषद के अधिकारी मौजूद रहे।

 

 

22 से भारी वाहनों का प्रवेश वर्जित: मेरठ। कांवड़ यात्रा 22 जुलाई से शुरू हो जाएगी। जिसके चलते भारी वाहनों का शहर में प्रवेश बंद कर दिया जाएगा। दिल्ली की तरफ जाने वाले और वहां से आने वाले वाहनों पर रोक रहेगी। इनका रूट डायवर्ट कर दिया जाएगा। एडीजी जोन ने कहा कि कांवड़ यात्रा के दौरान किसी भी लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों पर सख्त कार्यवाही होगी। कांवड़ यात्रा के दौरान साफ सफाई, रूट डाइवर्जन और कांवड़ियों के रुकने की व्यवस्था को दुरुस्त दुरुस्त रखा जाएगा। अधिकारियों को जलाभिषेक के दौरान मंदिरों में व्यवस्था को दुरुस्त करने के आदेश दिए।

वहीं मंदिरों के आसपास और संवेदनशील क्षेत्रों में भारी पुलिस बल सहित ड्रोन कैमरा से नजर रखने के आदेश दिए।

मोबाइल पर लाइव अपडेट रहेंगे अधिकारी: डीके ठाकुर

मेरठ जोन एडीजी ध्रुवकांत ठाकुर ने बताया की बैठक में कई बिदुओं में सभी की सहमति बनी। उन्होंने बताया कि कावड़ यात्रा एक पावन त्यौहार है और 15 दिनों से ज्यादा चलने वाला है। महत्वपूर्ण इसलिए भी हो जाता है कि ये कई राज्यों और कई विभागों से जुड़ा होता है। कई राज्यों के कावड़ियों का हरिद्वार जाना और आना होता है। ऐसे में रूट डायवर्ट करना, साफ-सफाई आदि सभी चीजों पर काम करना होता है। इस बार भी पुराने अनुभवों से सीख लेते हुए सफल यात्रा की तैयारी की है। इस बार कावड़ मार्गों में सीसीटीवी के साथ-साथ ड्रोन से भी नजर रखी जाएगी। उन्होंने ये भी कहा कि इस बार आसपास के राज्यों के अधिकारी मोबाइल पर लाइव अपडेट रहेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here