Home CRIME NEWS दिनदहाड़े दादा की पोते ने गोलियां बरसाकर की हत्या, रिश्तों के कत्ल...

दिनदहाड़े दादा की पोते ने गोलियां बरसाकर की हत्या, रिश्तों के कत्ल से फैली सनसनी

0

Loading

दिनदहाड़े दादा की पोते ने गोलियां बरसाकर की हत्या, रिश्तों के कत्ल से फैली सनसनी

  • आठ बीघा हिस्से की जमीन एवं मकान को नहीं कर रहा था दादा उनके नाम

  • 13 साल से दादा कर रहा था मां-बाप को प्रताड़ित, पुलिस के समक्ष किया हत्यारे पोते ने समर्पण,

  •  पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भेजा।


शारदा न्यूज़, संवाददाता।


मवाना। जिला मेरठ में स्पोर्ट्स कारोबारी की लूट के दौरान हत्या करने की घटना को अभी 24 घंटे नहीं बीते थे कि मवाना थानाक्षेत्र के गांव पहाड़पुर में दिनदहाड़े दादा की पोते ने गोलियां बरसाकर हत्या कर रिश्तों का कत्ल कर सनसनी फैला दी। परिवार के सदस्यों ने बताया कि दादा द्वारा गांव में जमीन एवं मकान का हिस्सा नाम नहीं करने पर उक्त कदम उठाया और हत्या कर पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। पोते तरुण ने 70 वर्षीय दादा जगत सिंह पर गोलियां बरसाकर हत्या करने से परिजनों में कोहराम मच गया।

हत्यारोपी ने पुलिस को बताया कि गोली मारने के बाद दम तोड़ने तक वह सिर पर तमंचे की बट से प्रहार करता रहा। हत्या का खून सवार होने पर युवक दादा की अंतिम सांस थमने के बाद वापस घर पहुंचा और मां-बाप को दादा की हत्या करने की बात बताई और खून से सने कपड़े उतारे। दिनदहाड़े वृद्ध की हत्या से फैली सनसनी के बाद सीओ आशीष शर्मा मय थाना प्रभारी कुलदीप सिंह, चौकी प्रभारी अवधेश कुमार एवं पुलिस को लेकर घटनास्थल पर पहुंचे और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम भेजा। पुलिस के गांव पहुंचने पर मृतक दादा के हत्यारे पोते ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया और हत्या करना कबूल लिया। पुलिस ने दादा के हत्यारे पोते एवं पिता को हिरासत में लेकर थाने में बैठा दिया। पुलिस तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

आठ बीघा जमीन बनी हत्या की वजह

गांव पहाड़पुर से शुक्रवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे साइकिल पर सवार होकर मवाना खुर्द बैंक जा रहा किसान जगत सिंह को यह अंदाजा नहीं था कि घर में बैठा काल उसकी जान ले लेगा। मवाना खुर्द बैंक से वापस लौटते समय गांव के बाहरी छोर स्थित समाधि के पास दादा जगत सिंह की हत्या करने की घात में खड़े 20 वर्षीय पोते तरुण उर्फ टिंकू पुत्र मनोज चौधरी ने दादा को रोका और समझाने का प्रयास किया लेकिन दादा जगत सिंह ने छूटते ही गाली गलौज कर दी। गाली गलौज का विरोध करने पर पोते तरुण उर्फ टिंकू ने एंटी से तमंचा निकाल कर दादा जगत सिंह को सिर में गोली मारकर हत्या कर दी।

हत्यारोपी तरुण उर्फ टिंकू ने पुलिस को बताया कि दो गोली मारने के बाद दादा जगत सिंह की सांसें चलती देख उसका गुस्सा ठंडा नहीं पड़ा और तब तक सिर में तमंचे की बट से प्रहार करता रहा जब तक अंतिम सांसे थम गई। दम तोड़ने के बाद हत्यारोपी पोता तरुण घर आ गया और मां बाप को दादा की हत्या करने की बात बताई। पुलिस के घर पहुंचने पर हत्यारे तरुण उर्फ टिंकू ने हत्या में प्रयुक्त तमंचा एवं दोनों खोखे पुलिस को सौंप कर सरेंडर कर दिया। पुलिस हत्यारोपी पोते तरुण उर्फ टिंकू को दबोच लिया जबकि चौकी पर पहुंचे पिता को भी हिरासत में लिया गया है।

35 सौ में खरीदा तमंचा एवं कारतूस

दादा जगत सिंह की हत्या करने के लिए इंचौली थाना क्षेत्र के गांव बिसौला से गत महीने पहले 35 सौ रुपए में एक तमंचा एवं पांच कारतूस ख़रीदे थे। दादा जगत सिंह का हत्यारा पोते तरुण उर्फ टिंकू ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि 13 साल से जमीन एवं मकान को लेकर मां सीमा एवं बाप मनोज को आए दिन गाली गलौज कर प्रताड़ित किया जा रहा था जिससे परेशान होकर उक्त कदम उठाना पड़ा।दादा की हत्या करने के बाद कोई अफ़सोस नहीं है।

परिजनों में मचा कोहराम, रिश्ता नाता भूला

शुक्रवार सुबह जमीन विवाद में हुए रिश्तों का कत्ल करने की बात आसपास लोगों एवं रिश्तेदारी में फ़ैल गई। हत्या के बाद भले ही परिजनों में कोहराम मच गया हो लेकिन दादा जगत सिंह की हत्या करने वाला कोई और नहीं बल्कि सगा पोता तरुण ही निकला। पुलिस द्वारा हत्या का खुलासा मात्र आधा घंटे में करने पर परिवार में कोहराम मच गया। मौके पर पहुंची थाना पुलिस ने शव को पीएम के लिए भेज दिया। 70 वर्षीय जगत सिंह पुत्र आसाराम अपने भाई राकेश चौधरी आदि तीन भाइयों के पास रहकर जीवन यापन करता था। चारों भाइयों के हिस्से में कुल 32 बीघा जमीन आती थी।

पुलिस ने बताया कि मृतक जगत सिंह अपनी जमीन का हिस्सा अपने भाईयों एवं अन्य पोतों के नाम करने की फिराक में था। जबकि मृतक जगत सिंह के एक इकलौता बेटा मनोज है। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले भी मृतक जगत सिंह तहसील में जमीन का हिस्सा लिखवाने के लिए तहसील में पहुंचा था लेकिन बात खुलने पर वापस लौट गया। इसी बात से परेशान होकर पोते तरुण उर्फ टिंकू ने दादा जगत सिंह का कत्ल कर आगे की कहानी खत्म कर दी। जिसका हत्यारोपी तरुण को कोई अफसोस नहीं है। पुलिस तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज करने में जुटी है।

इन्होंने कहा ….

सीओ आशीष शर्मा ने बताया कि परिवार में जमीन को लेकर विवाद चल रहा था हत्यारोपी तरुण के दादा जगत सिंह अपनी जमीन का हिस्सा दूसरे भाइयों को देने की बात पर पोते ने गोली मार दी। हत्यारे को पकड़ लिया गया है तथा हत्या में प्रयुक्त तमंचा एवं कारतूस भी बरामद कर लिए हैं मुकदमा दर्ज कर जेल भेजा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here