Home Hastinapur लगातार गंगा में पानी बढ़ने से हस्तिनापुर खादर में बाढ़ जैसे हालात

लगातार गंगा में पानी बढ़ने से हस्तिनापुर खादर में बाढ़ जैसे हालात

0

Loading

लगातार गंगा में पानी बढ़ने से हस्तिनापुर खादर में बाढ़ जैसे हालात

 

  • लगातार गंगा में पानी बढ़ने से हस्तिनापुर खादर में बाढ़ जैसे हालात।

  • बाढ़ के पानी में नहाने गए युवक की डूबकर मौत।

 


 

शारदा न्यूज़, संवाददाता ।

 

पहाड़ी और मैदानी इलाकों में लगातार बारिश और पीछे से बाढ़ का पानी गंग नहर में छोड़े जाने की वजह से हस्तिनापुर खादर क्षेत्र की दुश्वारियां लगातार बढ़ती जा रही है । खेतों में खड़ी फसल में 5- 5 पानी भर गया है और लगभग 12 गांव में पानी भर गया है आवागमन पूरी तरीके से बाधित हो गया है।

 

 

वहीं रविवार को मखदुमपुर गांव के पास बाढ़ के पानी में नहाने गए एक किशोर की डूबने से मौत हो गई जिसके बाद पुलिस ने पंचनामा भर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया मृतक किशोरपुर का रहने वाला है और उसका नाम शिवा है जो अपने दोस्तों के साथ मखदुमपुर गांव में बाढ़ के पानी में नहाने गया था।

बताया जा रहा है कि जैसे ही शिवा गंगा घाट की ओर जाने वाले मार्ग पर आगे बढ़ा वो गहरे पानी में चला गया और डूबने से उसकी मौत हो गई पुलिस ने शव को पंचनामा भर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

 

वहीं बात हस्तिनापुर के खादर क्षेत्र की करें तो बिजनौर बैराज से गंगा नदी में पानी डिस्चार्ज करने से लगातार खादर क्षेत्र में बाढ़ जैसे हालात बने हुए हैं खेतों में पानी भरने से चारे की फसल गलना शुरू हो गई है कई गांवों के लोगों तो पशुओं को सुरक्षित स्थान पर ले जा रहे हैं। जिन गांवों में पानी भरा है वहां से भी लोग सुरक्षित स्थान पर जा रहे हैं।

 

 

वहीं इस मामले में मेरठ के जिलाधिकारी दीपक मीणा ने बताया कि लगभग 12 गांव में जलस्तर बढ़ा है, कई गांवों से लोग सुरक्षित जगह शिफ्ट भी हुए हैं, लगातार निगाह रखी जा रही है। हमारे पास पूरी तैयारियां है एडीएम स्तर के अधिकारियों को मौके पर लगाया गया है। अभी कोई ज्यादा घबराने की बात नहीं है जहां तक युवक के डूबने की बात है कुछ बच्चे मखदुमपुर के पास नहाने गए थे वह बाढ़ के पानी में नहा रहे थे ज्यादा पानी भरा हुआ था जिसमें 1 बच्चे की डूबने से मौत हुई है देखा जा रहा है जो भी उचित आर्थिक सहायता होगी वह की जाएगी। अभी वहां फंसने जैसी कोई स्थिति नहीं है। कुछ लोग सुरक्षित जगह जरूर गए हैं 50 से 100 लोगों को शिफ्ट किया गया है अभी कोई पैनिक की स्थिति नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here