Home Meerut दीवान इंस्टीट्यूट पर अवैध कब्जे के प्रयास का आरोप

दीवान इंस्टीट्यूट पर अवैध कब्जे के प्रयास का आरोप

0
  • ग्राम डूंगरावली के ग्रामीणों ने डीएफ आफिस पर प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन।

शारदा रिपोर्टर मेरठ। ग्राम डूंगरावली के ग्रामीणों ने जिलाधिकारी कार्यालय पर प्रदर्शन कर ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि दीवान इंस्टीट्यूट के मालिकों पर जबरन उनकी जमीन कब्जाने का आरोप लगाते हुए जमीन की पैमाइश कराते हुए जमीन कब्जामुक्त कराने और दीवान इंस्टीट्यूट संचालकों पर कार्रवाई की मांग की।

ग्राम डूंगरावली निवासी इस्लाम पुत्र सददीक दिलशाद पुत्र सब्बीर, नजमु, पुत्र सब्बीर इरशाद पुत्र इशाक, शहजाद पुत्र इशाक, सोनू पुत्र अमजद, परवेज, पुत्र अमजद, चॉद पुत्र अमजद, शाहरूख पुत्र अमजद, मंजु पत्नी अमजद ने बताया कि उनकी जमीन जिसका खसरा स0-279 और क्षेत्रफल 1260 मी० है। इस जमीन से एनएच- 58 के चौडीकरण के समय 570 मी० जमीन सड़क चौडीकरण में चली गयी। जिसका मुवावजा भी उन्हें मिल चुका है। हमारी बची 690 मी० जमीन चौकी दीवान इन्स्टीटीयूट की दीवार से बिलकुल सटी हुई है। जिस पर दीवान इंस्टीट्यूट के संचालक अवैध रूप से कब्जा कर रहेथे। इसकी सूचना मिलने पर परिवार के सदस्य अवैध कब्जे वाली जमीन पर पहुंचे और उनसे कब्जा करने के लिए मना किया। जिस पर दीवान इन्स्टीटीयूट के मैनेजर ने धमकाया और कहा कि अगर दोबारा यहाँ पर आये तो जान से मार दूंगा। उसने अपने गार्डो को बुलाकर उनके के साथ हाथापाई की और कहा कि जहां जाना है, जमीन तुम्हें नही मिलेगी।

 

खबर फटाफट: 8 July 2024 | NewsBulletin Video || Sharda Express

 

ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि पैसे के बल पर पुलिस से सांठगांठ करके पुलिस बल को अपना कर उन्होंने हमारी जमीन पर पिलर रख दिये हैं। हमारे द्वारा विरोध और हंगामा करने पर फिलहाल काम रोक दिया है। ऐसे में संबंधित लेखपाल से जमीन की पैमाइश कराते हुए कब्जामुक्त कराई जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here