Home HAPUR अधिवक्ताओं को समर्थन देने आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह...

अधिवक्ताओं को समर्थन देने आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह पहुंचे हापुड़

0

Loading

  • अधिवक्ताओं पर लाठीचार्ज के विरोध में अधिवक्ताओं की हड़ताल,

  • समर्थन देने आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह पहुंचे हापुड़

  • राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कही बड़ी बात।


शारदा न्यूज़, संवाददाता |


हापुड़। 29 अगस्त को जनपद हापुड़ में धरना प्रदर्शन कर रहे अधिवक्ताओं पर पुलिस ने लाठी चार्ज कर दिया था। लाठी चार्ज में अधिवक्ता घायल भी हुए थे। इसके विरोध में अधिवक्ताओं द्वारा प्रदेश स्तर पर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। अधिवक्ताओं पर लाठीचार्ज के विरोध में अधिवक्ताओं की हड़ताल चल रही है। वहीं आज अधिवक्ताओं को समर्थन देने के लिए आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह हापुड़ कचहरी पहुंचे। जहां उन्होंने अधिवक्ताओं को समर्थन दिया।

 

 

वहीं अधिवक्ताओं को समर्थन देने के बाद राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने सरकार पर निशाना साधा। इस दौरान आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि हापुड़ में काफी दिनों से अधिवक्ताओं का आंदोलन चल रहा है। यहां पर प्रशासन और शासन ने जुल्म और ज्यादती की सारी इंतहा पार कर दी। वकीलों को दौड़ा-दौड़ा कर हापुड़ की सड़कों पर पीटा गया। जब इनके समर्थन में उत्तर प्रदेश में आन्दोलन हुआ। तो कई जिलों में वकीलों को पीटा गया। मुझे अधिवक्ता साथियों ने बताया की लाठीचार्ज में 30 से ज्यादा वकील गंभीर रूप से घायल हुए हैं। वकीलों की जो मांग है। सरकार को एक-एक मांग पूरी करनी चाहिए। काले कोट से टकराने का काम मत कीजिए। वरना यह काला कोट पहनने वाले लोग सरकार का चेहरा काला कर देंगे। अधिवक्ताओं की बातों को सुनिए।

उन्होंने कहा उसके जुर्म से पीड़ित व्यक्ति अदालत आता है। कोई गुंडा या माफिया हो। उसके जुर्म से पीड़ित आदमी अदालत आता है। अब जब अदालत में ही लाठियां और गोलियां चलने लगेगी। वकील ही सुरक्षित नहीं रहेंगे। तो प्रदेश की कानून व्यवस्था क्या होगी। आप अंदाजा लगा सकते हैं। मैं फिर से मांग करता हूं। की हापुड़ के वकीलों पर जो लाठी चार्ज हुआ है। उसमें जो प्रशासन के लोग शामिल थे। उन पर कार्रवाई की जाए। उनको सस्पेंड किया जाए। इसके साथ ही पार्लियामेंट का सेशन आने वाला है। अगर उससे पहले मैं बहाल हो गया तो देश की संसद में हापुड़ के वकीलों पर हुए जुर्म का मामला गूंजेगा।

 

वकीलों पर लाठी चार्ज के मामले में एसआईटी टीम गठित के मामले में संजय सिंह ने कहा कि एसआईटी तो मजाक है। भिकरू कांड हो तो एसआईटी। जल जीवन मिशन का घोटाला हो तो एसआईटी। कोरोना के सामानों की खरीद में घोटाला हो तो एसआईटी। हाथरस कांड हो तो एसआईटी। एसआईटी से निकलता क्या है। जब वीडियो मौजूद हैं। साक्ष्य मौजूद हैं। वकीलों को मारते हुए तस्वीर मौजूद हैं। तो उन लोगों पर कार्रवाई कीजिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here